Khas Indori - Garadu (गराडू)

ठण्ड का मौसम खाने-पीने के शौक़ीन लोगों के लिए जैसे खाने की बहार ले आता है . जब बात खाने की चल रही हो , तो इंदौर का नाम ना आये ऐसा हो ही नहीं सकता . खाने की इतनी सारी विशेषताएं मैंने अभी तक कहीं नहीं देखी .नमकीन से ले कर हर तरह की मिठाइयाँ , चाट से लेकर हर प्रान्त के पकवान यहाँ विशेष स्वाद देते हैं क्यूंकि यहाँ इन्हें परोसा जाता है बोली की मिठास और दिल खुश कर देने वाली मनुहार के साथ . इसलिए जब भी कोई बढा-चढ़ा कर किसी डिश की तारीफ करता है तो मैं भी इंदौर के बारे में बताने से पीछे नहीं हटती :-))) जैसा की मैंने अपने पिछले पोस्ट में लिखा था , यह पोस्ट खास तौर से इंदौर के मशहूर गराडू के बारे में है.
कच्चा गराडू

गराडू एक कंद या  root है जोकि दिखने में काफी कुछ शकरकंद / sweet potatao की तरह दिखता है. यह इंदौर में खास तौर से ठण्ड में हर स्टाल पर मिलता है. इसे बनाने के लिए:
  • गराडू को कुकर में १० मिनट उबाल लें
  • ठंडा होने पर इसके छिलके निकाल  लें .ध्यान रहे की स्टार्च होने के कारण छिलके निकालते समय हाथ चिपचिपे हो सकते हैं
  • छिलके निकालने के बाद इसके छोटे टुकड़े काट लें और तेल में कुरकुरा और भूरा होने तक तल लीजिये 
उबले और कटे हुए गराडू के टुकड़े 




  • कुरकुरा होने पर जीरावन मसाला (जो इंदौर की और एक खासियत है ) , काला नमक , थोडा नमक और लाल मिर्च भुरक दें .
  • अब १ निम्बू का रस निचोड़ कर इस पर डाल कर अच्छे से मिला लें और लीजये तैयार है गराडू जिसे एक बार खाने पर कोई इसका स्वाद नहीं भूल सकता .


तले हुए गराडू चटपटे मसाले के साथ

Chandana Mungre Kashid
My Contacts
Twitter LinkedIn Blogger Facebook Page

Comments

  1. Garadu ko english me kya bolte hai .. can u please tell me

    ReplyDelete
    Replies
    1. Boss me bhee pareshan hu mujhee Bihar me kacha garadu nahi mil raha, big basket par kafee search Kiya nahi mil raha kyaa karu

      Delete
  2. Hi Bhavya !

    Garadu is called Yam or Purple Yam :-))

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular Posts